Exclusive ! नेहा धूपिया :शादी, प्रेग्नेंसी, सबैटिकल, फिर कमबैक, एक्ट्रेसेज को इतना लंबा रूट लेने पर मजबूर क्यों करना है, जिन्हें प्रेग्नेंसी में काम करना है, उन्हें मौके दें

0
52
Exclusive ! नेहा धूपिया :शादी, प्रेग्नेंसी, सबैटिकल, फिर कमबैक, एक्ट्रेसेज को इतना लंबा रूट लेने पर मजबूर क्यों करना है, जिन्हें प्रेग्नेंसी में काम करना है, उन्हें मौके दें


कुछ कलाकार अपनी फिल्मों से दर्शकों के दिलों में जगह बनाते हैं और कुछ कलाकार अपने व्यक्तित्व से हैरान कर देते हैं। मेरे लिए नेहा धूपिया उन कलाकारों में से एक हैं, जिन्होंने फिल्मों में अपनी छवि से इतर, अपनी एक अलग पहचान बनाई है। वह उन अभिनेत्रियों में से एक हैं, जिन्होंने कभी कुछ भी प्रिटेंड करने की कोशिश नहीं की है, वह जैसी रियल लाइफ में हैं, वैसी ही परदे पर भी नजर आती हैं।‘ रोडीज’ जैसे शो की कामयाबी का बहुत हद तक श्रेय नेहा को भी जाना चाहिए। पिछले दिनों मैं अपनी कजिन बहन, जो कि मुझसे आठ साल छोटी हैं, उसको मैंने बताया कि मैं नेहा धूपिया का इंटरव्यू करने वाली हूँ, तो उसने मुझसे कहा आई लव नेहा धूपिया। यह ‘लव’ शब्द मेरे जेहन में रह गया, क्योंकि अमूमन आई लाइक का इस्तेमाल कलाकारों के लिए होता है, लेकिन नेहा के लिए उसके यह शब्द निकले, तो मैंने इसकी वजह जाननी चाही, तो उसने मुझसे कहा नेहा धूपिया की हर बात में होनेस्टी नजर आती है, उनका स्टाइल स्टेटमेंट, उनकी बेबाक बातें, स्ट्रांग पर्सनैलिटी सब कुछ प्रभावित करती है। वैसे वाकई, यह बात तो माननी होगी कि नेहा ने अपने करियर को जिस तरह से आकार दिया है, वह खुद एक ब्रांड हैं। मैं सच कहूँ तो उनकी लेटेस्ट फिल्म ‘अ थर्सडे’ देख कर, मेरे मन में उनके लिए प्यार और सम्मान और बढ़ गया। फिल्म में उन्होंने एक आठ महीने प्रेग्नेंट पुलिस ऑफिसर की भूमिका निभाई है, संयोग दरअसल, यह है कि रियल लाइफ में भी नेहा उस वक़्त प्रेग्नेंट थीं और उन्होंने फिल्म में सारे दृश्य स्टैंडिंग पोजीशन में निभाए हैं। नेहा ने इस फिल्म के बारे में और अपनी जिंदगी से जुड़े कुछ दिलचस्प पहलू पर बातचीत की

नेहा धूपिया बताती हैं कि ‘अ थर्सडे’ एक महत्वपूर्ण सोशल मेसेज लेकर आ रही है। साथ ही मैं खुद एक बच्ची की माँ हूँ, तो इस फिल्म के महत्व को समझ पा रही हूँ। इस फिल्म की एक खास बात मेरे लिए यह भी रही है कि यह पहली ऐसी फिल्म होगी, शायद जिसमें एक आठ महीने प्रेग्नेंट लेडी का किरदार, एक वाकई में आठ महीने प्रेग्नेंट यानी मुझे निभाने का मौका मिला है। तो मेरे लिए इस वजह से भी यह फिल्म हमेशा स्पेशल रहेगी।

मौके मिले प्रेग्नेंट वूमन को भी, कमबैक का इंतजार न हो

नेहा इस बात पर सवाल करती हैं कि आखिर प्रेग्नेंसी के बाद, किसी भी एक्ट्रेस के लिए कमबैक जैसी बातें क्यों आती हैं, वह क्यों काम जारी नहीं रख सकती हैं।

इस बारे में वह विस्तार से बताते हुए कहती हैं

मेरा मानना है कि अगर प्रेग्नेंसी के दौरान किसी महिला को उनके फिजिशियन ने कहा है कि आपको काम नहीं करना है तो यह अलग बात है। तो उस बात की रिस्पेक्ट करनी चाहिए। लेकिन मेरा मानना है कि अब भी इंडस्ट्री में जो यह अवधारणा है कि अगर एक्ट्रेसेज प्रेग्नेंट हो जाएं या उनकी शादी हो जाए, तो शादी के बाद प्रेग्नेंसी, फिर उसके बाद सबैटिकल, फिर उसके बाद कमबैक, इतना लंबा रुट नहीं होना चाहिए, क्योंकि मेरा मानना है कि अगर जो काम करना चाहती हैं, उन्हें करने देना चाहिए, किसी भी रूप में हमें मजबूर नहीं करना चाहिए कि हम लंबा रास्ता लें, हो सकता है कि हम इस दौरान जाना ही न चाहते हों। हमारे भी पर्सनल और प्रोफेशनल ड्रीम साथ-साथ पैरलल चल सकते हैं, तो हम इसे क्यों नहीं कर सकते। ऐसे में जब रॉनी स्क्रूवाला और बेजाद ऐसे मौके देते हैं, तो हमारा मन करता है कि आप करें।

नेहा ने आठ महीने की प्रेग्नेंसी के दौरान स्टैंडिंग पोजीशन में फिल्माए सीन्स

अ थर्सडे’ फिल्म में नेहा के जितने भी सीन्स हैं, वह स्टैंडिंग सिचुएशन में हैं और थोड़ा एक्शन भी है। नेहा ने प्रेग्नेंसी के दौरान इस सीन को करना कैसे मुमकिन किया।

इस बारे में नेहा कहती हैं कि

मुझे ख़ुशी है कि आपने इस बारे में पूछा, क्योंकि अबतक किसी ने इस बारे में नहीं पूछा था। वैसे थोड़ी डिस्कम्फर्ट तो हुई थी, क्योंकि खड़े-खड़े सारे सीन्स करने थे, आठ-आठ घंटे कभी-कभी खड़े हो जाना पड़ता था। लेकिन कोशिश तो यही होती है कि हम अपना बेस्ट दें। उस वक़्त मैं अपने शू लेसेज वगैरह भी बाँध नहीं पा रही थी। मैं वैनिटी पर चढ़ नहीं पाती थी, फिर बारिश वाले सीन में पूरी तरह से भीग कर खड़े रहना, उसको लेकर मैं थोड़ी चिंतित थी। लेकिन बात वही है कि जब आप कमिटमेंट कर देते हैं, तो करना ही होता है। यही मेरे इस फिल्म के किरदार और मुझमें समानता थी कि मैं भी कॉल  ऑन ड्यूटी पर थी और वह भी। और मुझे कुछ बदलना नहीं था अपने बारे में।  हम इस बात को लेकर क्लियर थे कि इस किरदार के लिए हमें कोई सिम्पथी नहीं लेनी है, उसको बस अपना काम करना है और आगे बढ़ना है।

एक बेटी की मां होने के नाते, ऐसी खबरें सहमने पर मजबूर करती हैं

नेहा खुद एक बच्ची की माँ हैं, ऐसे में जब ऐसी फिल्में आती हैं, जो झकझोरने पर मजबूर करती है, आपको एक पैरेंट के रूप में कितना डर महसूस होने लगता है। इस बारे में नेहा कहती हैं कि हमारे पेरेंट्स हमें कहा करते थे कि हमारे बच्चे का कोई बाल भी बांका कर दे, तो उन्हें देख लेंगे, ऐसा कहा करते थे। उस वक़्त समझ नहीं आता था, लेकिन अब इस बारे में समझ पाते हैं कि पेरेंट्स बनना क्या होता है। नेहा कहती हैं कि मैं और अंगद की यही कोशिश रहती है कि मैं हमेशा उनके साथ रहूँ। हम  इस बात को लेकर सजग रहते हैं कि हमारे बच्चों की सेफ्टी हमारे लिए सबसे पहले आती है।

अपने घर के लड़कों को लड़कियों का सम्मान कराना सिखाएं

नेहा कहती हैं कि  उनका मानना है कि यह बेहद जरूरी है कि अगर आपके घर में एक लड़का है, तो उसे लड़कियों का सम्मान करना घर से ही सिखाइये। वह बेहद जरूरी है। मेरा मानना है कि बेस्ट एजुकेशन तो घर से ही होती है। हम तो जब हमारे बच्चे पैदा भी नहीं हुए थे, तब से हमने इस बारे में सोच रखा है कि  हम उन्हें क्या वैल्यू सिस्टम देंगे। लोगों का सम्मान करना सिखाएंगे। वह हमारे लिए प्राथमिकता हमेशा रहेगी, जो हमारे पेरेंट्स ने हमें दिया है। हमें उसे आगे बढ़ाना है। हम अपने बच्चों को वक़्त देकर और ठहराव के साथ सबकुछ सिखाना चाहेंगे।

यंग जेनरेशन में है नेहा की खूब लोकप्रियता

नेहा की लोकप्रियता नए जेनरेशन में भी बढ़ रही है, नेहा काफी लड़कियों को इंस्पायर करती हैं,

इस बारे में नेहा कहती हैं कि

मुझे लगता है कि अगर यंगर जेनरेशन मुझसे कनेक्ट महसूस करते हैं, तो उसकी वजह यही है कि मैंने  हमेशा खुद होने में यकीन किया है। बी योरसेल्फ रहने में यकीन किया, इसलिए मैंने कभी किसी झूठ का सहारा नहीं लिया है और न ही मैंने कभी अपने दर्शकों के सामने बनावटी रूप दिया है, जो मैं हूँ, वही मेरा रूप सामने आया है। इसलिए लोगों ने मेरे गुस्से को तो गुस्सा, इमोशन तो इमोशन  हर रूप को देखा है और मैं युवाओं को भी यही कहना चाहूंगी कि उन्हें हमेशा खुद को बेबाक बनाना चाहिए। मैंने कभी खुद को लेकर बदला  नहीं है, मेरे में किसी बात को लेकर फसाद नहीं है। रोडीज में पांच साल मैंने दिया है, तो वहां अगर मैं बनावटी होती तो निश्चित तौर पर लोगों को वह दिख जाता। तो कोई अगर मुझसे कुछ सीखना चाहता है तो मैं कहूँगी कि मैं जैसी अभी हूँ, वैसी अपनी 20 में नहीं थी, तो जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ता है, आप चीजों को बेहतर समझते हैं, मैं बस लोगों को यह बोलने की कोशिश करूंगी कि आप मेरी तरह बनने की कोशिश मत करो, आप अपने जैसे रहो, वही जरूरी है। मैं बस यही कहना चाहूंगी कि आ जब आप रहते हो तो जिंदगी एकदम आसान हो जाती है।

अपकमिंग प्रोजेक्ट्स

नेहा जल्द ही एक कॉमेडी प्रजेक्ट के साथ जुड़ने जा रही हैं, लेकिन वह फिलहाल अपना अधिक समय अपने बच्चों को देना चाहती हैं और अभी वहीं उनकी प्राथमिकता हैं।

वाकई, नेहा आपसे जितनी बार भी बातचीत होती है, आप मुझे और अधिक इंस्पायर करती हैं, हर बार आपसे कुछ न कुछ नया ही सीखने का मौका मिलता है मुझे। आने वाले समय में मैं आपके और प्रोजेक्ट्स का बेसब्री से इंतजार करूंगी। आप यूं ही इंस्पीरेशन बनी रहें यंगर जेनरेशन के लिए।



Source link